NewsReach.in

जौनपुर ।खुटहन में दो वर्ष पूर्व हुए मारपीट,आगजनी व फायरिंग में वांछित छः वारंटी गिरफ्तार।

फिरोज खान
मङियाहू जौनपुर

जौनपुर ।खुटहन ब्लाक मुख्यालय पर दो वर्ष पूर्व ब्लाक प्रमुख पद को लेकर लाये गये अविश्वास प्रस्ताव के दौरान दो पक्षों मे मारपीट, आगजनी और फायरिंग के मामले में उच्च न्यायलय की सांसद बिधायक स्पेशल कोर्ट ने पचास से अधिक वांछितो के खिलाफ वारंट जारी किया है। जिसमें छः आरोपितो को पुलिस ने गिरफ्तार कर बुधवार को चलान न्यायालय भेज दिया। पुलिस की कार्रवाई से विभिन्न राजनैतिक दलो के लोगों में हड़कंप मचा हुआ है। सभी अपने संपर्क सूत्रों से ज्ञात करने में लगे हुए है कि किसके किसके नाम वारंट जारी हुआ है। वहीं पुलिस नाम के खुलासे में पूरी गोपनीयता बरत रही है।

ज्ञातव्य हो कि प्रदेश में सपा के बाद भाजपा की सरकार बनने के कुछ महीनो बाद 6 नवंबर 2017 को समाजवादी पार्टी के वर्तमान ब्लाक प्रमुख श्रीमती सरयू देई के खिलाफ उस समय के सांसद कुँवर हरिवंश की पुत्र बधू नीलम सिंह पत्नी पूर्व ब्लाक प्रमुख रमेश  के द्वारा अविश्वास प्रस्ताव लाया गया। इस दौरान एक खेमा सत्ता दल का रहा तो दूसरे खेमा सरयू देई के पक्ष की बागडोर पूर्व सांसद धनंजय सिंह, एमएलसी प्रिंसू सिंह और बिधायक शैलेन्द्र यादव ललई ने संभाल रखा था। अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में मतदान को आने वाले क्षेत्र पंचायत सदस्यों को रोकने के लिए जमकर ईंट पत्थर, मारपीट, हवाई फायरिंग तथा एक स्कार्पियो गाड़ी फूंक दी गई थी। इसी मामले में स्पेशल कोर्ट द्वारा पचास से अधिक लोगों के खिलाफ वारंट जारी किया है। जिसमें पुलिस ने उसरौली शहाबुद्दीनपुर गाँव निवासी राजू सिंह, ओम प्रकाश यादव, महेन्द्र तथा कानामऊ गाँव के राम आषीश यादव, सत्यम यादव और मड़वा मोहिउद्दीनपुर के बृजेश यादव को जेल भेज दिया।

Related posts