NewsReach.in

जौनपुर ।करेंट की चपेट में आने से हाथी की मौत

जौनपुर। मीरगंज थाना क्षेत्र के जरौना गोधना मार्ग पर स्थित भटहर गांव में बिजली विभाग की लापरवाही से नए वर्ष के पहले ही दिन एक बड़ा हादसा हो गया। आस्था एवं विश्वास के प्रतीक गजराज की हाईवोल्टेज तार की चपेट में आकर दर्दनाक मौत हो गयी। इस दर्दनाक घटना की जानकारी होते ही मौके पर आस-पास सहित क्षेत्रीय लोगों की काफी भीड़ जुट गयी। महावत की सूचना पर मौके पर पहुंचे हाथी मालिक ने जेसीबी मशीन की सहायता से मृत हाथी को धरती में दफन कर दिया। वहीं लोगों में बिजली विभाग के प्रति काफी आक्रोश व्याप्त हैं।
भदोही जिले के सुरियावां थाना क्षेत्र के अबरना गांव निवासी सभाशंकर पांडेय ने मात्र चार माह पूर्व गोरखपुर से 70 लाख की हाथी को खरीदा था। जिसे 15 दिन पहले मनापुर निवासी सहदेव पाण्डेय ने अपने साथ अबरना के बड़कऊ, कप्तान तथा भदोही के सहबान के साथ हाथी को लेकर उनके घर से निकले थे। वह गांव-गांव भ्रमण करते हुए मंगलवार की शाम चार बजे भटहर गांव स्थित सांईनाथ कुटी मंदिर के पास रात में डेरा डाल दिया और एक पेड़ में हाथी को सिकडे़ से बांधकर चारा पानी देकर रात में सो गये। इसी बीच रात में किसी तरह हाथी सिकड़ा तोड़कर बगल शेर बहादुर सिह के गेहूं के खेत में पहुंच गया और काफी नजदीक से गुजर रहे हाईटेन्शन तार को अपनी सूंड से पकड़ लिया जिससे उसकी सूड़ कट कर अलग हो गयी और तड़प तड़प कर घटना स्थल पर ही हाथी की दर्दनाक मौत हो गयी। भोर में जब महावतों ने हाथी गायब देखा तो अगल बगल ढुढते हुए खेत में पहुंचे तो हाथी मरा पड़ा था। पड़ोस के हनुमंत पाण्डेय, मकालू ने बताया कि रात में अचानक तीन चार बार हाथी चिल्लाया लेकिन इस दर्दनाक घटना का अंदेशा नहीं था। सुबह महावत द्वारा हाथी मालिक को सूचना दी गई। मामले की जानकारी होते ही हाथी मालिक भारी मन से मौके पर पहुंच गए। जिसके बाद सैकड़ों लोगों के बीच गजराज के शव को धरती में दफन कर दिया गया।
इस सम्बंध में विद्युत उपखण्ड अधिकारी मछलीशहर अमर सिंह पटेल ने बताया कि तत्काल मैं ढीले तार को दुरु स्त करवा दे रहा हूं।

संवाददाता
फिरोज खान
मङियाहू जौनपुर

Related posts